May 11, 2021

Aone Punjabi

Nidar, Nipakh, Nawi Soch

अमृतसर में सब्जियों के बढ़ते दामो ने हिलाया रसोई का बजट…

1 min read

जहां कोरोना महामारी आम आदमी की आजीविका को बाधित कर रही है, वहां अब सब कुछ महंगा हो रहा है अभी हमने आप को दो तीन दिन पहले ही सब्जी मंडी के बारे मे जानकारी दी थी कि सब्जियों के दाम काफी बढ़ गये हैं, लेकिन अब तो महँगाई ने आम आदमी की कमर ही तोड़ दी एक तो अभी श्राद चल रहे जिस कारण हम कह सख्ते है कि कारोबार ठंडा पड़ा हुआ है लेकिन अगर दुकानदार की सुने तो उनका कहना है कि सब्जियों के दाम जियादा होने के कारण सब्जियों की बिक्री भी कम हो गई है ,जिसमें रही कसर बारिश ने पूरी कर दी

अमृतसर में सब्जियों के बढ़ते दामो ने रसोई का बजट हिला कर रख दिया है एक तरफ लोगो के काम काज कॅरोना की वजह से ठप है ऊपर से सब्जियों के बढ़ रहे दामो ने लोगो के घर के बजट को हिला कर रख दिया है 

दुकानदारो के मुताबिक  बारिश की वजह से कीमतें लगातार बढ़ रही हैं, जिससे किचन ठंडा हो गया है।  , दुकानदार ने कहा कि  पहके लॉक डाउन और अब वीकेंड कर्फ्यू ने हालात खराब कर दिए है काम काज है नही और सब्जियां सब बाहर से आ रही है  सब्जियों के बढ़ रहे दामो ने ग्राहक को कम कर दिया है  सब्जियों के दाम 50 परसेंट के करीब बढ़ गए हैं चाहे शिमला मिर्च हो या फुल गोभी, बंद गोभी, टमाटर, प्याज, इन सभी के दाम दिनों दिन बढ़ते जा रहे है

दूसरी तरफ ग्राहकों का कहना है कि सब्जियों के भाव आसमान को छू रहे है लॉक डाउन के कारण कारोबार बिल्कुल बन्द पड़े हैं, आमदनी का कोई जरिया नही गरीब व्यक्ति के लिए रोटी खाना भी बहुत मुश्किल है अगर सब्जियों की बात करे तो इनके दाम भी अब आसमान को छू रहे हैं,जो गोभी दो दिन पहले 40 रुपये की लेकर गये थे आज वही गोभी मंडी में 80 रुपये किलो के हिसाब से बिक रही हैगरीब आदमी जो रोज दिहाडी लगाकर कमाता है उसकी तो पुहंच के ही बाहर हैं सब्जी खरीदना सरकार सोई पड़ी है कॅरोना की मार ने वैसे ही कारोबार खत्म कर दिया है और गरीब आदमी की रोटी पर भी अब डाका मारा जा रहा है गरीब आदमी इतनी महंगी सब्जी लेकर अपना घर कैसे चलाएगा सरकार को चाहिए लॉक डाउन को खत्म कर सभी कारोबार शुरू करने चाहिए ताकि आम आदमी भी पेट भर खाना खा सके,और सरकार को खाने पीने की चीजों पर1 छूट देनी चाहिए ताकि गरीब आदमी पेट भर रोटी खा सके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *