August 5, 2021

Aone Punjabi

Nidar, Nipakh, Nawi Soch

एक परिवार ने अपने बेटी की शादी पर गांव के सरपंच को नही बुलाया तो सरपंच ने एक पेपर पर हस्त्ताक्षर करने से किया मना..

1 min read

पंजाब के जिला हशियारपुर में एक अनोखा मामला देखने को मिला जब एक परिवार ने अपने बेटी की शादी पर गांव के सरपंच को नही बुलाया तो सरपंच ने एक पेपर पर हस्त्ताक्षर करने से इस लिए मना कर दिया उन्होंने सरपंच को शादी पर नही बुलाया था जब कि लड़कीं की शादी उसी के पड़ोस में थी मौके पर बनी इस घटना की वीडियो अब इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है । जब कि कांग्रेसी सरपंच अब वीडियो को तोड़ मोड़ पेश करने का बहाना बना रहा है 

मामला हल्का चब्बेवाल के गांव दाता से है जब हाल ही में गांव में हुई एक लड़की की शादी के सिलसिले में जब उक्त परिवारिक मेम्बर गांव के सरपंच के यहां एक पेपर पर साइन करवाने के लिए आए तो सरपंच ने बिना कागज देखे यह कहकर हस्त्ताक्षर करने से इनकार कर दिया क्योकि उक्त परिवार ने उन्हें शादी का कार्ड व शादी पर नही बुलाया था । मौके से मिली जानकारी मुताबिक गांव दाता के सरपंच साहिब जो कांग्रेस से संबंध रखते है इतने सत्ता के नशे में चूर हो गए अपना फर्ज ही भूल बैठे । दरअसल अपने ही गांव की एक लड़की की शादी में ना बुलाये जाने का गुस्सा सरपंच साहिब ने कुछ  इस तरह निकाला जब लड़कीं के घर वाले शादी के पेपर पर हस्त्ताक्षर लेने आए तो जनाब ने यह कहकर वापस मोड़ दिया कि उन्होंने शादी पर  नही बुलाया  था । जिसकी बाकायदा मौके पर शक्श ने वीडियो भी बनाली । अब जब सरपंच को इलाके व शोशल मीडिया में अपनी बदनामी होती दिखाई दी तो गांव की पंचायत में बुलाकर पहले लड़के से माफी मंगवाई व बाद में इसी से माफी की वीडियो बनाकर खुद वाइरल कर दी  , जब इस घटना सबंधी सरपंच से बात की तो उसने माना कि वह गुस्से में बोल गया था अब कागजात सामने है वे हस्त्ताक्षर कर रहा है 

इस घटने के बारे में पीडत ने कहा कि शादी के मौके पर उन्होंने केबल एक कार्ड ही छपवाया था लेकिन बावजूद सरपंच साहिब के यहां उन्होंने बाकायदा दो बार सुनेहा भेजा था लेकिन वे नही आये जब कि पूरे गांव को पता था कि उनकी लड़कीं की शादी है , ऐसा में उन्हें लगता है कि लड़कीं को जन्म देना ही पाप है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *