August 4, 2021

Aone Punjabi

Nidar, Nipakh, Nawi Soch

पटियाला : राजिंदरा अस्पताल में काका सिंह नाम के एक व्यक्ति ने राजिंदरा अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोप..

1 min read

पटियाला के राजिंदरा अस्पताल में काका सिंह नाम के एक व्यक्ति ने आज राजिंदरा अस्पताल के डॉक्टरों पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि राजिंदरा अस्पताल के डॉक्टर मरीजों की अच्छी देखभाल नहीं कर रहे थे।  हां, मेरी पत्नी का इलाज राजिंद्र हस्तमापाल में चल रहा है। उन्होंने कहा कि मेरी पत्नी को दस दिनों के लिए यहां भर्ती कराया गया है। पहले उसे डॉक्टरों द्वारा टॉरियो वार्ड में भर्ती कराया गया था लेकिन मेरी गृहिणी की रिपोर्ट नकारात्मक थी।  यहां डॉक्टरों की ओर से घोर लापरवाही बरती जा रही है। फिर मेरी पत्नी को वार्ड नंबर 12 में भर्ती कराया गया, लेकिन यहां डॉक्टरों द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

 वहाँ काका सिंह ने कहा कि अब 10 दिन हो गए हैं, मेरी पत्नी कुछ भी नहीं खा रही है। कोई भी यहाँ डॉक्टरों के पास उसकी देखभाल नहीं कर रहा है। वह बहुत बीमार है, लेकिन उसकी पत्नी का डॉक्टरों द्वारा ध्यान नहीं रखा जा रहा है।  उन्होंने कहा कि जहां डॉक्टर किसी भी तरह से उनका इलाज नहीं कर रहे हैं, उन्हें न तो ग्लूकोज दिया जा रहा है और न ही कोई टीका, उन्हें समय पर दवा नहीं दी जा रही है। उनके चाचा सिंह ने रोते हुए दुख व्यक्त किया कि यहां के डॉक्टर हैं।  मैं कुछ भी नहीं सुन रहा हूं। मेरी पत्नी का इलाज किया जा रहा है। उत्तर काका सिंह ने भी आग लगाकर मरने की बात कही है। अगर उसकी पत्नी का इलाज नहीं किया गया तो वह आग लगाकर मर जाएगी।  वह गृहिणी को भी मार डालेगा।

 दूसरी ओर, चिकित्सा अधीक्षक पीके पांडव ने कहा, “मैंने आज तक ऐसा कुछ नहीं देखा है। यदि ऐसा हुआ है, तो जल्द ही इससे निपटा जाएगा। कोई फर्क नहीं पड़ता कि डॉक्टर कौन है। चिकित्सा अधीक्षक पीके पांडव।”  उन्होंने कहा, “मेरे दिमाग में आज तक ऐसी कोई बात नहीं है। अगर कोई ऐसी बात है, तो जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।”

पटियाला के राजेंद्रा अस्पताल में आज दर्जा चार कर्मचारी यूनियन की तरफ से पंजाब सरकार के दुखों का घड़ा तोड़ा गया और अपना दुख प्रकट किया गया वहीं प्रदर्शनकारियों द्वारा पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर मुर्दाबाद की नारेबाजी की गई और कहा गया कि हम करो ना महामारी में अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं लेकिन सरकार की तरफ से हमारी तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिसके चलते पंजाब सरकार के दुखों का घड़ा भर चुका है जिसको हम आज राजेंद्र हस्पताल में तोड़ रहे हैं अगर सरकार की तरफ से हमारी तरफ ध्यान ना दिया गया तो यह संघर्ष आगे जाकर और भी देखा होगा इसकी जिम्मेदार सरकार खुद होगी। वही दर्जा चार कर्मचारियों यूनियन के प्रधानने मीडिया कर्मियों से बातचीत करते हुए कहा कि हम पिछले कई सालों से रजिंदरा अस्पताल में काम कर रहे हैं और हम क्रोना महामारी में भी अपनी ड्यूटी या पूरी अच्छी तरीके से निभा रहे हैं लेकिन सरकार की तरफ से हमें कोई भी फैसिलिटी नहीं दी जा रही है जिसके चलते आज हम यहां पर अपना प्रोटेस्ट कर रहे हैं लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से हमारी तरफ और हमारी मांगों की तरफ कोई भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है जिसके चलते सरकार के दुखों का घड़ा भर चुका है जिसको आज हम यहां पर तोड़ रहे हैं और अपना दुख प्रकट कर रहे हैं वहीं प्रदर्शनकारियों द्वारा जमकर मुर्दाबाद की नारेबाजी की गई और पंजाब सरकार के दुखों का घड़ा तोड़ा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *