November 28, 2021

Aone Punjabi

Nidar, Nipakh, Nawi Soch

पठानकोट : बिजली के बिलों को लेकर होटल इंडस्ट्री में रोष, पंजाब सरकार के खिलाफ उतरे सड़कों पर..

1 min read

बन्द पड़े हुए होटलों ओर दूसरे अदारो को लाखों रुपए के बिजली के बिल भेजे जाने के विरोध में आज होटल एसोसिएशन ओर व्यपार मंडल की ओर से एक शांति पूर्वक विरोध प्रदर्शन नीतिन महाजन की अध्यक्षता में किया गया। जिस में व्यपार मंडल के प्रदेश महा सचिव एलआर सोढ़ी विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस मौके पर सभी सदस्यों ने अपने हाथों में विरोध प्रदर्शित करती हुई स्लोगन वाली तख्तियां पकड़ी हुई थी। इस मौके पर नितिन महाजन ओर एलआर सोढ़ी ने बताया कि कोविड की लड़ाई में हम सभी ने सरकार और सेहत विभाग की ओर जारी सभी गाईड लाईन की पालना करते हुए अपने कारोबार बंद कर दिये। जिस के चलते हम सभी के कारोबार खत्म हो गए। इस के बाबजूद भी हम सभी ने  सरकार के हर फैसले का स्वागत किया। सरकार ने हमे किसी भी तरह की कोई भी छूट नही दी, उल्टे बन्द पड़े हुए कारोबार के समय हमे लाखों रुपए के बिजली के बिल भेज दिए। जो कि सरासर ना इंसाफी है। उन्होंने कहा कि वह इतने भारी भरकम बिल देने में असमर्थ है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक देश एक है, परन्तु हम राज्य में बिजली के अलग अलग रेट है और पंजाब में सब से महंगी बिजली है। जो कि पंजाब के लोगो से साथ ना इंसाफी है। उन्होंने सरकार से मांग की उन्हें इस मुसीबत के समय मे छूट दी जाए। ताकि वह अपने घाटे में चल रहे कारोबारों को पटड़ी पर ला सके।

बन्द पड़े हुए होटलों ओर दूसरे अदारो को लाखों रुपए के बिजली के बिल भेजे जाने के विरोध में आज होटल एसोसिएशन ओर व्यपार मंडल की ओर से एक शांति पूर्वक विरोध प्रदर्शन नीतिन महाजन की अध्यक्षता में किया गया। जिस में व्यपार मंडल के प्रदेश महा सचिव एलआर सोढ़ी विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस मौके पर सभी सदस्यों ने अपने हाथों में विरोध प्रदर्शित करती हुई स्लोगन वाली तख्तियां पकड़ी हुई थी। इस मौके पर नितिन महाजन ओर एलआर सोढ़ी ने बताया कि कोविड की लड़ाई में हम सभी ने सरकार और सेहत विभाग की ओर जारी सभी गाईड लाईन की पालना करते हुए अपने कारोबार बंद कर दिये। जिस के चलते हम सभी के कारोबार खत्म हो गए। इस के बाबजूद भी हम सभी ने  सरकार के हर फैसले का स्वागत किया। सरकार ने हमे किसी भी तरह की कोई भी छूट नही दी, उल्टे बन्द पड़े हुए कारोबार के समय हमे लाखों रुपए के बिजली के बिल भेज दिए। जो कि सरासर ना इंसाफी है। उन्होंने कहा कि वह इतने भारी भरकम बिल देने में असमर्थ है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक देश एक है, परन्तु हम राज्य में बिजली के अलग अलग रेट है और पंजाब में सब से महंगी बिजली है। जो कि पंजाब के लोगो से साथ ना इंसाफी है। उन्होंने सरकार से मांग की उन्हें इस मुसीबत के समय मे छूट दी जाए। ताकि वह अपने घाटे में चल रहे कारोबारों को पटड़ी पर ला सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *