May 9, 2021

Aone Punjabi

Nidar, Nipakh, Nawi Soch

सरकार के जूठे वादे से तंग आ कर बैंक का कर्जा उतारने के लिए गुर्दा बेचने का लिआ फैसला..

1 min read

संगरूर के अवतार सिंह ने बैंक का कर्ज उतारने के लिए अपनी ग़रीबी का वास्ता देते हुए सरकार और प्रशासन से अपना गुर्दा और किडनी बेचने की इजाजत मांगी है ।

संगरूर के एक व्यक्ति ने सरकार के झूठे वादों से तंग आकर अपने ऊपर चढ़ा बैंक का कर्जा उतारने के लिए सरकार से और प्रशासन से अपनी किडनी और गुर्दा बेचने की मांग की है अवतार सिंह का कहना है कि यह सिलाई का काम करता है और एक स्लम एरिया में 70 गज जगह में घर बनाकर रह रहा है घर की हालत बेहद ही खराब है कांग्रेस सरकार पड़ने पर उसे उम्मीद जगी थी कि कांग्रेस गरीबों के कर दे माफ कर देगी परंतु 3 साल हो गए हैं की सरकार ने ना तो कर्ज माफ किया है उल्टा बैंक का कर्ज बढ़ता ही जा रहा है जिस कारण उसने अपनी 70 गज जगह में से 35 का जगह बेचने के लिए भी लगा दी थी परंतु स्लम एरिया होने के चलते कोई जहां जगह खरीदने को तैयार नहीं है अवतार सिंह का कहना है कि उसे उम्मीद थी कि उसका जवान बेटा नौकरी पर लग जाएगा और उसे कुछ आर्थिक मदद मिलेगी परंतु बेटे को नौकरी ना मिलने के चलते और बेरोजगारी के चलते घर के गरीबी की हालत को देखते हुए बेटे ने आत्महत्या कर ली अब वह और उसकी पत्नी ही इस टूटे और खस्ता हालत मकान में रह रही हैं हाल ही में बैंक ने उन्हें नोटिस भेजा है कि 27 अगस्त को उनके घर को ताला लगा दिया जाएगा  अभ वह परेशान है क्योंकि गरीबी के चलते वह बैंक का कर्ज उतार नहीं सकता और सरकार से भी गरीबों का कर्ज माफ करने की उम्मीदों से टूट गई है जिसका अब उसने अपना घर बचाने के लिए सरकार से अपनी किडनी और गुर्दा बेचने की इजाजत मांगी है क्योंकि कर्ज उतारने के लिए उसके पास अब कुछ बाकी नहीं है खाली उसका शरीर है जैसे बेचकर वह अपना घर बचाना चाहता है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *