August 4, 2021

Aone Punjabi

Nidar, Nipakh, Nawi Soch

स्टेडियम के नाम बदलने पर आखिर रीजनीति क्यों?

1 min read
मोटेरा स्टेडियम

प्रधानमंत्री का यह ड्रीम प्रोजेक्ट था : अमित शाह
‘हम दो हमारे दो’ का ब्यान देते हुए राहुल गांधी ने किया ट्वीट

गुजरात के क्रिकेट एसोसिएशन ने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी रख दिया है। इस विषय पर हर जगह बहस हो रही है।  बहस खिलाड़ियों की नहीं राजनेताओं की है और इसको राजनीति का मुद्दा बना दिया गयाब है। वहीँ कांग्रेस की तरफ से ब्यान आया कि स्टेडियम का नाम बदलना सरदार वल्लभ भाई पटेल का अनादर करना है ।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर ने ट्वीट किया कि पूरे काम्प्लेक्स का नाम सरदार पटेल स्टेडियम है केवल क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदला गया है। वे बोले कि जिस परिवार ने पटेल जी के निधन के बाद भी उनका सम्मान नहीं किया वे आज हंगामा मचा रहे हैं। स्टेडियम के साथ ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद  ने स्पोर्ट्सब एन्क्लेव कि भी नींव रखी है। अब तक कोलकाता का ईडन गार्डन ही देश का सबसे बढ़ा स्टेडियम था। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्टेडियम को जनता को समर्पित करते हुए कहा, यह स्टेडियम पि एम नरेंद्र मोदी कि कल्पना है, जिसके बारे में उन्होंने गुजरात के सी एम रहने के दौरान सोचा था। राष्ट्रपति ने स्टेडियम का उद्घाटन किया।  इस मौके पर अमित शाह ने बताया कि हमने स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी रखने का फेसड़ला लिया है क्योंकि यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट था।  यह स्टेडियम मोटेरा इलाके के पास बना हुआ है, इसलिए पटेल का नाम जोड़ने के बाद स्टेडियम का नाम, ‘सरदार पटेल गुजरात स्टेडियम, मोटेरा’ हो गया।  लेकिन गुजरात के उप मुख्यमंत्री ने इंकार किया की इस स्टेडियम का नाम मोटेरा स्टेडियम से बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम किया गया है। 

कांग्रेस नेता राहुल गाँधी ने इस मामले को लेकर ट्वीट किया “सच कितनीं खूबी से सामने आता है, नरेंद्र मोदी स्टेडियम, अम्बानी एन्ड – रिलायंस एंड, जय शाह की अध्यक्षता में। #humdohumaredo

दरअसल इस स्टेडियम में दो एंड का नाम- अडानी एंड और रिलायंस एंड रखा गया है। स्टेडियम के नाम बदलने के साथ साथ इन पेवेलियन एंड के नाम को लेकर भुई चर्चा हो रही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *